जनसम्पर्क मंत्री ने गाँव-गाँव जाकर बाँटे गैस कनेक्शन

जनसम्पर्क मंत्री ने गाँव-गाँव जाकर बाँटे गैस कनेक्शन जनसम्पर्क, जल-संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज दतिया जिले के ग्राम गोराघाट, बड़ौनीखुर्द नगर, हमीरपुर, उद्गंवा एवं दतिया नगर में गरीबों को निःशुल्क गैस कनेक्शन बाँटे। इस मौके पर डॉ. मिश्र ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार नाम मात्र कीमत पर गेहूँ, चावल और नमक के अलावा अब निःशुल्क गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री आवास आदि की सुविधा दे रही है। दो वर्ष में सभी गरीबों के पक्के घर होंगे और उज्जवला योजना के तहत् गैस कनेक्शन दिए जायेंगे। जनसम्पर्क मंत्री ने गोराघाट में 100 हितग्राहियों को निःशुल्क गैस कनेक्शन बाँटे। उन्होंने पान कुंअर, रामदेवी, ममता एवं सुमित्रा देवी को मौके पर गैस कनेक्शन चूल्हा आदि प्रदान किए। ग्राम बड़ौनी में स्थानीय कबीरपंथी आश्रम घौंटेश्वर पहुंचकर 120 महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश सरकार की मंशा है कि गरीब को भी धूल, धुएं के वातावरण से मुक्ति मिले और ईंधन की समस्या से निजात के लिए सभी गरीबों को गैस कनेक्शन दिए जाएं। डॉ. नरोत्तम मिश्र ने ग्राम उद्गंवा में 61 निःशुल्क गैस कनेक्शन बांटे। इस दौरान उन्होंने कहा कि ग्राम उद्गंवा में पेयजल समस्या का निराकरण हुआ है। अब शीघ्र ही खेतों

ओजस्विनी मुक्ताकाश नाट्य शाला का शुभारंभ

ओजस्विनी मुक्ताकाश नाट्य शाला का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार ने तय किया हैं कि एक लाख सरकारी पदों पर भर्तियां की जाएगी। साथ ही इस वर्ष साढ़े सात लाख युवाओं को स्व-रोजगार से भी जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज दमोह में ओजस्विनी संस्थान परिसर में ओजस मुक्ताकाश नाट्यशाला का शुभारंभ कर रहे थे। इस मौके पर महर्षि सुभाष पात्री, वित्त और वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत मलैया, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव, फिल्म कलाकार श्री शरद सक्सेना ओजस्विनी समदर्शी न्यास की अध्यक्ष डॉ. सुधा मलैया, विधायक श्री लखन पटेल उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मेधावी प्रोत्साहन योजना की जानकारी देते हुए कहा सरकार ने गरीब प्रतिभाशाली छात्रों के लिए व्यवस्थाएं की हैं। श्री चौहान ने चयनित विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री द्वारा दमोह बुंदेली महोत्सव में चार विभूतियाँ ओजस्विनी अलंकरण से पुरस्कृत

मुख्यमंत्री द्वारा दमोह बुंदेली महोत्सव में चार विभूतियाँ ओजस्विनी अलंकरण से पुरस्कृत मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य बनेगा। इसके लिये राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाएँ और कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। उन्होंने यह बात शुक्रवार को दमोह में बुंदेली महोत्सव के शुभारंभ अवसर पर कही। इस अवसर पर 4 राष्ट्र विभूतियों को ओजस्वी अलंकरण-2017 से अलंकृत किया और डॉ. सुधा मलैया द्वारा लिखित पुस्तिका श्रीजा का विमोचन भी किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बेटियों को लखपति बनाने का हमारा बरसों पुराना सपना अब पूरा हो रहा है। हमने बेटियों के जन्म को बढ़ावा देने के लिये लाड़ली लक्ष्मी योजना, उनकी पढ़ाई लिखाई, शादी विवाह से लेकर उन्हें सशक्त बनाने और रोजगार में आरक्षण देने तक की व्यवस्था की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बुंदेली संस्कृति अद्भुत है। इसकी छटा निराली है, यहां का गीत, संगीत, व्यंजन, कला, संस्कृति और जीवन मूल्य औरों से अलग है। इस महोत्सव के जरिये विभूतियों को सम्मानित करना गौरव का विषय है। समाज में स्त्री अत्याचारों के प्रति चिंता व्यक्त भी की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री एवं अन्य अतिथियों ने ब्रम्हर्षि सुभाष पत्री एवं उनकी

योजनाओं और कार्यक्रमों की सफलता सुनिश्चित करना सिविल सेवकों का दायित्व : मुख्यमंत्री

योजनाओं और कार्यक्रमों की सफलता सुनिश्चित करना सिविल सेवकों का दायित्व : मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनता और जन-प्रतिनिधियों को जोड़कर शासकीय योजनाओं और कार्यक्रमों का संचालन जन-अभियान के रूप में किया जाना चाहिए। जनता की सहभागिता से किये गये कार्यों की सफलता सुनिश्चित होती है। यह सफलता अन्य किसी तरीके से किये गये प्रयासों से कई गुना अधिक होती है। श्री चौहान आज आर.सी. व्ही.पी.नरोन्हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी में सिविल सर्विस-डे कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जन-प्रतिनिधि जन-भावनाओं से अवगत होते हैं। उनके साथ संतुलित ताल-मेल और समन्वय जरूरी है। जन-प्रतिनिधियों से शासकीय प्रयासों के प्रभावों और जन-भावनाओं का बेहतर फीडबैक मिलता है। योजनाओं एवं कार्यक्रमों की सफलता सुनिश्चित करना सिविल सेवक का दायित्व है। शासन की नीतियों का क्रियान्वयन तभी सफल होगा, जब उसका लाभ लक्षित वर्ग को मिलें, मंशा के अनुरूप जनता को योजना का लाभ नहीं मिलने से विफलता ही हाथ लगेगी। श्री चौहान ने विभिन्न योजनाओं के उद्देश्यों और प्रक्रियाओं के प्रसंगों के आधार पर सिविल सेवक की सकारात्मक सोच की भूमिका का उल्लेख करते हुए कहा कि सिविल सेवा नौकरी नहीं, मिशन है। आम आदमी का भविष्य उज्जवल बनाने की

टेक्नोक्रेटस ग्रुप आफॅ इंस्टीट्यूट का वार्षिक समारोह में शामिल हुई राज्यपाल

टेक्नोक्रेटस ग्रुप आफॅ इंस्टीट्यूट का वार्षिक समारोह में शामिल हुई राज्यपाल राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि अतंरिक्ष विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में हुई प्रगति को प्रभावी ढंग से उपयोग करना सफल एवं सतत् विकास की कुंजी है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की जानकारी न केवल विद्यालयों अपितु पूरे जन समुदाय तक पहुंचाना आवश्यक है। आज का युग तकनीकी एवं वैज्ञानिक क्षमताओं से परिपूर्ण है। दुनिया में आज वही राष्ट्र आगे हैं, जिन्होंने विज्ञान को प्राथमिकता दी है। वे आज यहां टेक्नोक्रेटस ग्रुप आफॅ इंस्टीट्यूट के वार्षिकोत्सव समारोह को संबोधत कर रही थीं। इस अवसर पर राज्यपाल ने मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि सभी विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों एक-एक गांव गोद लें और वहां छात्र-छात्राओं से सर्वे करायें की वहां स्वच्छता, स्वास्थ्य और अन्य सुविधायें उपलब्ध हैं या नहीं। उन्होंने मेधावी छात्रों से कहा कि आपकी डिग्री तभी सफल होगी और जब हर गाँव में समृद्धि और खुशहाली आयेगी। गावं के लोगों से मिलने वाला आशीर्वाद ही आपके जीवन का सबसे बड़ा अवार्ड है। राज्यपाल ने कहा कि बच्चों में कुपोषण की समस्या दूर करने में सहयोग करें, ग्रामीणों और गरीबों तक सरकार की योजनाओं का लाभ सही ढंग से पहुंच रहा है इसकी

झाबुआ जिले में राज्य मंत्री सारंग ने किया जन-समस्याओं का निराकरण

झाबुआ जिले में राज्य मंत्री सारंग ने किया जन-समस्याओं का निराकरण   सहकारिता, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सारंग ने आज प्रभार के जिले झाबुआ में नागरिकों की समस्याएं सुनी और मौके पर उनका निराकरण भी करवाया। श्री सारंग ने आदिवासी विकास विभाग में लंबित अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों पर कलेकटर झाबुआ को तुरंत कार्यवाही करने के निर्देश दिए। झाबुआ जिले की पेटलावद तहसील में सड़क निर्माण में लापरवाही की शिकायत और लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री की अनुपस्थिति पर श्री सारंग ने जांच कराने और कार्यपालन यंत्री के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए कहा। राज्य मंत्री ने गर्मी के मौसम में पर्याप्त पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि हेंडपंप खनन का रोड़ मैप तैयार कर खनन कार्य करवाया जाए। खनन की जानकारी जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध कराई जाए। राज्य मंत्री श्री सारंग ने झाबुआ में हुए किसान सम्मेलन में कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में अनेक निर्णय लिए है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में किसान और श्रमिक हितैषी सरकार है। श्री सारंग ने किसानों, श्रमिकों और अन्य वर्गों के लिए राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में लोगों को विस्तार से बताया।

मुख्यमंत्री ने 10 लाख 21 हजार किसानों के खातों में ट्रान्सफर किये 1669 करोड़

मुख्यमंत्री ने 10 लाख 21 हजार किसानों के खातों में ट्रान्सफर किये 1669 करोड़ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों को उनके पसीने की पूरी कीमत दिलाने के लिये मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना लागू की गई है। इसमें समर्थन मूल्य पर अथवा उससे अधिक मूल्य पर गेहूँ बिकने पर 265 रूपये प्रति क्विंटल, चना, मसूर, सरसों पर 100 रूपये प्रति क्विंटल तथा लहसुन पर 800 रूपये प्रति क्विंटल किसान के खाते में डाले जायेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज शाजापुर में किसान महासम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में 10 लाख 21 हजार किसानों के बैंक खातों में 1669 करोड़ रूपये ऑनलाईन डाले गये। यह प्रोत्साहन राशि गेहूँ उपार्जन वर्ष 2016-17 और धान उपार्जन वर्ष 2017 पर 200 रूपये प्रति क्विंटल की दर से दी गयी। षड़यंत्रों से सावधान रहें किसान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने के लिये खाद्य प्र-संस्करण और कृषि के विविधीकरण के लिये प्रोत्साहित किया जायेगा। कृषि उत्पाद के निर्यात के लिये इसी वर्ष राज्य स्तरीय संस्था बनाई जायेगी। उन्होंने कहा कि देश के संसाधनों पर किसानों का हक है। किसानों की समस्याओं के नाम पर राजनीति नहीं की जाना चाहिये। किसान इस तरह

भोपाल तालाब गहरीकरण कार्य में मुख्यमंत्री चौहान ने किया श्रमदान

भोपाल तालाब गहरीकरण कार्य में मुख्यमंत्री चौहान ने किया श्रमदान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में एक मई से 15 जून तक तालाब संरक्षण का अभियान चलेगा। इस अभियान के दौरान तालाबों के जीर्णोद्धार, गहरीकरण और नए तालाबों के निर्माण के कार्य किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में जल संरक्षण के प्रयासों पर विचार-विमर्श के लिये जल संसद का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन में नदी और तालाब संरक्षण से जुड़े विशेषज्ञ शामिल होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि तालाब के साथ ही प्रदेश में नदियों के पुनर्जीवन और गहरीकरण के कार्य भी किये जाएंगे। श्री चौहान आज भोपाल तालाब गहरीकरण अभियान के शुभारंभ अवसर पर नागरिकों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नागरिकों का आव्हान किया कि तालाब के संरक्षण के लिए आत्मीयता के साथ समर्पण की भावना से गहरीकरण कार्य में श्रमदान करें। गहरीकरण के कार्य में श्रमदान तालाब के साथ भावनात्मक जुड़ाव का प्रतीक है। तालाब और जल का संरक्षण, उसकी सीमाओं की रक्षा, शासन-प्रशासन के साथ ही जनता की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने भरोसा जताया कि कर्तव्यनिष्ठ और जिंदा दिल भोपालवासी तालाब को निर्जीव नहीं होने देंगे। महापौर श्री आलोक शर्मा ने कहा कि भोपाल का

मुख्यमंत्री चौहान विराट सोमयज्ञ महोत्सव में शामिल हुए

मुख्यमंत्री चौहान विराट सोमयज्ञ महोत्सव में शामिल हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान धर्मपत्नि श्रीमती साधना सिंह के साथ आज विराट सोमयज्ञ महोत्सव में शामिल हुये। महोत्सव का आयोजन दशहरा मैदान में किया गया है। श्री चौहान ने महोत्सव में पारंपरिक विधि-विधान से पूजा-अर्चना की और यज्ञ ध्वजा का आरोहण किया। इस अवसर पर पूर्व सांसद श्री रघुनंदन शर्मा और भक्तगण, यजमान उपस्थित थे।

भारतीय रेल देश को जोड़ने का सबसे सशक्त माध्यम : मुख्यमंत्री चौहान

भारतीय रेल देश को जोड़ने का सबसे सशक्त माध्यम : मुख्यमंत्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भारतीय रेल देश को एक करती है। रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि इन्दौर से कलकत्ता के बीच चलने वाली क्षिप्रा एक्सप्रेस को प्रतिदिन चलाने की कार्रवाई की जायेगी। ट्रेन में पेन्ट्री की व्यवस्था भी रहेगी। मुख्यमंत्री और रेल मंत्री विधानसभा के सभागार में 63वें रेल सप्ताह के दौरान राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में रेल मंत्रालय के उत्कृष्ट कार्यकर्ताओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में रेल राज्यमंत्री श्री मनोज सिन्हा और सांसद श्री आलोक संजर भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रेल के सफर के आनंद की किसी और साधन से किये गये सफर से तुलना नहीं की जा सकती। यात्रा के दौरान भोजन का आनंद ही निराला होता है। रेल की यात्रा देश की धड़कन का अहसास करवाती है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में जनता की भागीदारी से योजनाओं का निर्माण किया जाता है। वृद्धजन पंचायत के निर्णय के पालन में तीर्थ-दर्शन योजना संचालित की गई है। योजना में 60 वर्ष के अधिक उम्र के वृद्धजन रेल द्वारा तीर्थ-स्थलों का दर्शन करते हैं। उन्होंने श्रद्धालु यात्रियों के अनुभवों