कांग्रेस में आंतरिक संग्राम

0
8

कांग्रेस विधानसभा उप चुनाव की तैयारियों में जोर-शोर से लगी है लेकिन बैठकों में अब वरिष्ठ नेता तीखे सुर में अपनी बात रखने लगे हैं। कांग्रेस में वापसी की खबरों के बीच इन नेताओं ने सशर्त वापसी का नेतृत्व पर दबाव बनाया है। इसी तरह विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का मामला वरिष्ठ विधायकों की वजह से अधर में लटक गया है। मध्यप्रदेश कांग्रेस में सरकार गिरने के बाद वरिष्ठ नेताओं के तेवर बदलते दिखाई दे रहे हैं।

congress

पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी अध्यक्ष कमल नाथ द्वारा बुलाई जा रही विशेष बैठकों में नेताओं के तेवर खुलकर सामने आने लगे हैं। मंगलवार को ग्वालियर-चंबल संभाग की बैठक में प्रदेश के करीब 20 नेता कमल नाथ के निवास पर पहुंचे।

इतनी बड़ी संख्या में नेताओं के पहुंचने पर कोरोना लॉकडाउन शारीरिक दूरी के मापदंड का कितना पालन हुआ होगा, इसका अंदाज लगाया जा सकता है। बताया जाता है कि ग्वालियर-चंबल संभाग की बैठक में चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी के भिंड जिले के मेहगांव से कांग्रेस प्रत्याशी बनाए जाने की चर्चा पर नेताओं ने आपत्ति की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here