विस अध्यक्ष ने स्वास्थ्य मंत्री से 2 घंटे में जांच रिपोर्ट तलब की

0
10

भोपाल  संभवतया यह पहला मौका है जब मैदानी पदस्थापना में कार्यरत किसी लोकसेवक की जांच तत्काल कर जांच रिपोर्ट दो घंटे में तलब की जाए,लेकिन मंगलवार को राज्य विधानसभा में अध्यक्ष एनपी प्रजापति के आदेश पर स्वास्थ्य मंत्री तुलसी राम सिलावट को मंदसौर जिले के  सुवासरा स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ चिकित्सक आरएस जोहरी के मामले में यह जांच करवाने का आश्वासन देना पड़ा।

दरअसल,यह मामला सुवासरा से कांग्रेस के ही विधायक हरदीप सिंह डंग ने लिखित प्रश्न के जरिए उठाया। उन्होंने कहा,कि डॉ जोहरी शासकीय सेवा में हैं,लेकिन वह निजी नर्सिंग होम चला रहे हैं। अस्पताल की क ई मशीनें उन्होंने अपने नर्सिंग होम में स्थापित करवा ली हैं और    सरकारी अस्पताल में आने वाले मरीजों का इलाज निजी तौर पर  कर रहे हैं। डंग के सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने डॉ जौहरी के नर्सिंग होम होने की बात तो स्वीकार क रते हुए उनका तबादला आज ही करने की बात कही,लेकिन कांग्रेस विधायक  ने अध्यक्ष  से संरक्षण मांगते हुए कहा,कि वह चाहते हैं कि सरकार अभी मौके पर छापा डलवाकर मशीनों की हकीकत पता करे,तबादला इस समस्या का समाधान नहीं है। उनकी इस मांग पर अध्यक्ष श्री प्रजापति ने स्वास्थ्य मंत्री को दो घंटे में जांच करवाकर रिपोर्ट पटल पर रखने के निर्देश दिए।

पहले कहा- योजना चालू, अफसरों  ने पर्ची भेजी तो बताया बंद

मध्यप्रदेश में राज्य बीमारी सहायता योजना को 31 मार्च 2019 से बंद कर दी गई है। यह बात लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट ने नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के सवाल के उत्तर में दी लेकिन इससे पहले अपने उत्तर में स्वास्थ्य मंत्री ने योजना का चालू होना बताया। इसी बीच अधिकारी दीर्घा में बैठे विभागीय अफसरों ने मंत्री को पर्ची भेजी। इसके बाद उन्होंने योजना बंद होने की बात कही। यह पर्ची भी तब नेता प्रतिपक्ष ने योजना चालू होने के दावे पर सरकार से इस पर व्यय हुई राशि की जानकारी मांगी।

आयुष्मान योजना क्रियान्वयन को लेकर भी उठे सवाल

केंद्र  प्रवर्तित आयुष्मान योजना के क्रियान्वयन में बरती जा रही लापरवाही को लेकर भी सवाल उठे। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज  सिंह चौहान ने कहा,कि जमीनी स्तर पर योजना को ठीक तरीके से लागू नहीं किया गया है। आरोप लगाने से काम नहीं चलेगा। दरअसल,भाजपा विधायक कुवरजी कोठार के उत्तर में चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ.विजय लक्ष्मी साधौ ने कहा कि केंद्र से समय पर राशि नहीं मिलने से योजना के क्रियान्वयन में दिक्कतें पेश आ रही हैं। उन्होंने कहा कि अब तक इस योजना से प्रदेश में एक लाख से अधिक लोगों को लाभ पहुंचाया गया है।

इधर, विधायक दिव्यराज सिंह ने शिक्षकों की तर्ज पर उप स्वास्थ्य केंद्रों में पदस्थ एएनएम क  की उपस्थिति सुनिशिचत करने व  लोकेशन पता जानने  जियो टाइम व्यवस्था लागू करने की बात कही। इस पर स्वास्थ्य मंत्री  ने इसे अव्यवहारिक बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here